जानिये सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कौन कौन सी है ?

कम उम्र में लड़के लड़कियों के बाल झड़ना बहुत आम हो चुका है. पर ये आम बात नहीं है, बहुत चिंता की बात है. पर आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आज में सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कौन कौन सी है ? की पूरी जानकारी देने वाला हूँ. साथ ही साथ ये भी बताऊंगा की सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कारगार है या नहीं ?. यदि आपके रोज 20 से 50 बाल गिरते हैं तो कोई चिंता की बात नहीं है पर यदि इससे ज्यादा गिर रहे हैं तो ये चिंता का विषय है. और ऐसा आपके साथ भी हो रहा है तो आप गंजेपन की ओर अग्रसर हैं.

आज लगभग 80% लोगों को ये समस्या आ रही है और आम तौर पर बाल पतले होकर झड़ते हैं. बालों के झड़ने के कई कारण होते हैं जैसे आनुवांशिकता, कोई खास बीमारी, बढ़ती उम्र, विटामिन-मिनरल्स की कमी, गलत खानपान, बालों में कई तरह के कलर-शैम्पू करना, फंगल इन्फेक्शन, तनाव और परेशानी आदि होते हैं.

sir ke bal jhadhne ki homeopathic dawaa kaun kaun si hai

सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा काफी कारगर होती है. होम्योपेथी हर तरह की बीमारियों में के लिए असरदार होती है चाहे वो बाल ही क्यों न हों. लेकिन आप अपने गंजेपन या बालों को झड़ने से रोकने के लिए होम्योपैथी दवा लेना चाहते हैं तो डॉक्टर से परामर्श जरूर लें. चलिए अब जान लेते हैं की कम उम्र में बाल क्यों झड़ते हैं और सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कारगार है या नहीं ?

कम उम्र में बाल क्यों झड़ते हैं-कारण

बाल झड़ने के निम्लिखित कारण हैं जो नीचे दिए गए हैं -

1. खान पान में पोषक तत्वों की कमी

ये आजकल के बच्चों में बाल झड़ने का सबसे बढ़ा कारण है. यदि आप ऐसा आहार नहीं लेते हैं जिनमे विटामिन न हों तो आपके बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं.

2. बालों में कलर-शैम्पू करना

अपने बालों को स्टायलिश रखने के लिए नए लड़के लड़कियां बहुत तरह के शैम्पू , हेयर कलर का यूज करते हैं. इनमे बहुत तरह के केमिकल होते हैं जिनसे बाल तो शाइनी और मुलायम हो जाते हैं पर नुकसान भी पहुंचाते हैं. यही कारण है की उम्र से पहले ही बाल झड़ने लगते हैं.

3. अनुवांशिकता

ये बालों के झड़ने का सबसे बढ़ा कारण है जो लगभग 50% इंसानों में पाया जाता है. यदि आपके परदादा, दादा और पिताजी के बाल झड़ते हैं तो आपके भी 100% बाल गिरेंगे. ये एक ऐसी बीमारी है जो पीढ़ियों से चली है और आगे बढ़ती रहती है.

4. हार्मोन्स का बदलाव होना

ऐसे कई कारण होते हैं जिनके कारण हमारे शरीर में हार्मोन्स का परिवर्तन होता है जैसे गर्भावस्था, गंभीर बीमारी में हाई लेवल दवाई का सेवन करना आदि से भी ये समस्या उत्पन्न हो जाती है.

5. गंभीर बीमारियां में दवाई का सेवन

यदि आपको केंसर, अस्थमा, तनाव (डिप्रेशन), हिरदय रोग या घेंगा संबंधी बीमारी हैं और उनकी दवाई का सेवन कर रहे हैं तो आपको बालों के झड़ने की समस्या सताएगी.

6. तनाव (टेंशन) का होना

यदि आपको कोई ऐसी चिंता सता रही है जिससे आपको कई महीनों से तनाव है तो कई शोध कर्ताओं का मानना है कि ऐसे व्यक्तियों के बाल झड़ने लगते हैं.

7. असमय वजन का घटना या बढ़ना

यदि आपके शरीर का वजन एक दम से घट रहा है या बढ़ रहा है तो आपके लिए चिंन्ता की बात हो सकती है, क्योंकि इससे भी बाल झड़ना स्टार्ट हो जाते हैं.

8. डेंड्रफ होना

या भी एक बहुत बड़ा कारण है यवाओं में बालों का असमय झड़ने का. यदि आपके बालों में बहुत ज्यादा डेन्ड्रफ है तो बालों में खुजली चलने लगती है जिससे बाल गिरने लगते हैं. 

सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कारगार है या नहीं ?

आपको बता दें कि कई वर्षों से होम्योपैथिक दवाइयों का यूज विभिन्न प्रकार के रोगों में किया जाता है. इतना ही नहीं विदेशी भी मान चुके हैं की में कितना दम है. अब बात आती है की क्या सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कारगार है या नहीं ? तो इसका जबाब है हाँ. 

होम्योपैथिक दवाइयां महिलाओं और पुरषों दोनों के बालों को झड़ने से बचाने के लिए कारगार है और एक सर्वश्रेष्ट उपचार के रूप में उभरा है. यदि आप होम्योपैथिक विशेषज्ञ के हिसाब से बालों का इलाज जारी रखते हैं और सही देख भाल करते हैं तो पका इसका इलाज है.

कई जाने माने प्रशिद्ध डॉक्टर्स का कहना है कि बालों के झड़ने का सबसे बेहतर इलाज होम्योपैथी ही है. इनका कहना है कि यदि इसकी दवाई ठीक तरीके से ली जाए तो लोग हेयर ट्रांप्लांट, लेजर थेरपी, पी आर पी आदि से बच सकते हैं, जो की काफी महंगे इलाज हैं.

होम्योपैथी अन्य इलाज से काफी सस्ती और सरल तकनीक है जिसको हर कोई कर सकता है, पर इसका रेगुलर इलाज जब तक कि डॉक्टर चाहे जरूरी है.

सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कौन कौन सी है ?

बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवाएं इस हिसाब से आतीं हैं कि आपके बाल किस कारण से झड़ रहे हैं, सभी महिलाओं-पुरषों में अलग अलग कारण हो सकते हैं. इसीलिए दवाएं भी कई प्रकार की होती हैं कारन के हिसाब से.

बालों के झड़ने के हिसाब से कुछ बेहतरीन और कारगर दवाएं नीचे लिस्टेड हैं.

1. फास्फोरस

जिन महिलाओं और पुरषों के बाल सफ़ेद और रूखे होने के कारण अधिक मात्रा में झड़ते हैं. ऐसे लोगों के लिए फास्फोरस दिया जाता है. यदि आपके बाल कुछ हिस्से में ही झड़े हैं तो भी फ़ास्फ़ोरस की खुराकें दी जाती हैं.

यदि बालों में अधिक मात्रा में डेन्ड्रफ है और जलवायु परिवर्तन के कारण बाल गिरते हैं तब भी फ़ास्फ़ोरस दिया जाता है.

2. थूजा ऑक्सीडेंटलिस

यदि बालों के झड़ने का कारण सिर में खुजली, खोपड़ों में सूखापन और डैंड्रफ है तो थूजा ऑक्सीडेंटलिस एक बढ़िया दवा है. 

इसके आलावा यदि बाल अत्यधिक पतले हैं और बढ़ नहीं रहे हैं समय से तो भी इसी दवाई को खाने का परामर्श दिया जाता है.

3. नैट्रम मुरियाटिकम

ऐसा महिलाओं के साथ कई बार होता है की बच्चे के जन्म के बाद इनके बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं जिनको रोकने के लिए नैट्रम मुरियाटिकम की सलाह डॉक्टर द्वारा दी जाती है.

4. फ़्लोरिक एसिड

फ़्लोरिक एसिड एक ऐसी दवा जिसका यूज बालों के झड़ने में सबसे ज्यादा किया जाता है. जो लोग एलोपेशिया  से झूझ रहे हैं उनके लिए ये बहुत बढ़िया दवा है. क्योंकि इस दवा से बाल दुबारा आने लगते हैं.

ये दवा उनके लिए भी कारगर जिनके बाल टायफ़ाईड और तेज बुखार के कारण झड़े हैं. फ़्लोरिक एसिड की मदद से बालों का सफेद होना और सूखापन भी रोका जा सकता है. इसके सेवन से आप बालों को मुलायम और मजबूत कर सकते हैं.

5. मेजेरियम

ये वाली दवा उन लोगों के लिए है जिनका स्वभाव शांत होता है और ठंडी हवा सूट नहीं करती है. जिनके बाल फंगल इंफेक्शन, बालों में रूसी के कारण खुजली चलना, सिर में पपड़ी का जमना आदि के कारण झड़ते हैं उनके लिए मेजेरियम बहुत फायदेमंद है.

6. सिलिकिया 

ये होम्योपैथी दवाई उनके लिए है जो कमजोर है, जिनकी मांसपेशियां ढीली हैं, बहुत जल्दी सर्दी जुकाम हो जाता है के कारण बाल झड़ने लगते हैं.

यदि आपके बाल कम उम्र में झड़ने लगते हैं या सर मे छोटे छोटे फोड़े होने की वजह से खुजली चलना तथा सर का बहुत ज्यादा संवेदन शील होना एवं गर्दन पर बहुत पसीना आना आदि. यदि ये समस्याएं आपको हैं तो सिलिकिया तुरंत दवाई लेने लगें.

ये भी पढ़ें - 

सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा के फायदे कौन कौन से हैं?

1. नो साइड-एफेक्ट

यदि इन दवाइयों का सेवन किसी अच्छे डॉक्टर के हिसाब से चले और सही देख रेख होती है तो भविष्य में कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है. ये होम्योपेथी का सबसे बड़ा प्लस पॉइंट है. कोई भी दवा हो सभी के साइड इफेक्ट होते हैं पर इसका कोई साइड एफेक्ट नहीं है.

2. हमेशा के लिए इलाज

कई बार ये होता है की जब हम कोई दवा लेते हैं तो जब तक दवाई लो तब तक ही उसका असर होता है और बध कर दो तो फिर से प्रॉब्लम आने लगती है. पर होम्योपैथी ऐसी चीज है जो किसी भी बीमारी का जड़ से इलाज करती है.

यदि किसी के बाल कोई विशेष कारण से झड़ रहे हैं तो उस कारण का जड़ से इलाज ही उपाय है. मान लीजिये की आपके बाल कहां-पान में कमी या विटामिन की कमी से झड़ रहे हैं और कोई अंग्रेजी दवाई या तेज से नहीं रुक रहे हैं तो ये वाली दवाई लें और खान पान सुधारें.

3. आनुवंशिकता का इलाज

आनुवंशिकता  के कारण यदि आपके बाल गिरते हैं और कोई ट्रीटमेंट काम नहीं कर रहा है तो होम्योपैथी से ये भी सम्भव हैं. इससे ये फायदा होगा की यदि आप ठीक हो जाते हैं तो आपके आने वाली पीढ़ी को ये प्रॉब्लम नहीं होगी.

4. लम्बे समय के लिए परिणाम

यदि किसी के बालों का इलाज होम्योपैथी के जरिये चलता है तो ऐसा नहीं है की उसका प्रभाव कुछ समय के लिए होता है. यदि एक बार कायदे और सही तरीके  से इलाज हो जाए तो उसको दुबारा गंजापन नहीं होगा. हमेशा के लिए समस्या दूर.

निष्कर्ष - यदि आप गंजेपन के करीब हैं और आपकी उम्र कम है तो आपके लिए सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कौन कौन सी है ? और सिर के बाल झड़ने की होम्योपैथिक दवा कारगार है या नहीं ? बहुत पोस्ट जरूर फायदा करेगी. एक बात ध्यान रखें कि कोई भी दवा लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें ताकि कोई हानि न हो 

धन्यवाद,

एक टिप्पणी भेजें

कृपया गलत भाषा का इस्तिमाल न करें

और नया पुराने